);
पेटलावद

परपंरा तो निभाए, लेकिन पानी जरूर बचाए,एमरॉल्ड जूनियर कॉलेज में नन्हे बच्चों ने मनाई ईको फ्रेंडली होली, दिया सेव द वॉटर का संदेश

पेटलावद। होली भारतीय पर्वो में आनंदोल्लास का पर्व है। होली एक ऐसा रंग-बिरंगा त्योहार हैद्व जिस हर धर्म के लोग पूरे उत्साह और मस्ती के साथ मनाते है। रंग पर्व की खुशी के बीच शहर को दबे पांव आ रहे जलसंकट का भी अहसास करना होगा। उल्लास से सराबोर होकर रंगो का पानी उड़ाने के साथ कुछ पानी बचा सकें, इसका जतन भी करना होगा।

मंगलवार को इसी अपील के साथ एमरॉल्ड जूनियर कॉलेज पेटलावद में विद्यार्थियों सहित स्टाफ ने रंगो का त्योहार होली पर्व के एक दिन पहले फागोत्सव मनाया। इस आयोजन में खास बात यह रही कि सभी छात्र-छात्राओ ने एक-दूसरे को गुलाल लगाकर सेव द वॉटर का संदेश दिया। साथ ही एक-दूसरे को होली पर्व की शुभकामनाएं भी दी।

विद्यार्थियो ने लोगो से अपील करते हुए कहा कि होली के पर्व पर पानी की बर्बादी न करे। सूखी होली खेलकर जल संरक्षा में अपना सहयोग दे। बच्चो को होली के मौके पर केमिकल रंगो का प्रयोग नही करने की सलाह दी। उन्होनें कहा कि केमिकल रंग के प्रयोग से त्वचा में कई रोग होते है।

सभी ने एक सूर में कहा कि परम्परा तो मनाए, लेकिन पानी भी बचाए। संचालक अमित शुक्ला, हरिओम पाटीदार, मनोज जानी, कमलेश परमार, दिपेश शुक्ला, प्राचार्य श्रीमती सोम्या भावसार, शिक्षक और शिक्षिकाएं मौजूद रहे।

Related Articles

error: Content is protected !!
Close