);
पिटोल

पिटोल भगोरिया में दिखा दो राज्यों की संस्कृति का समागम राजनेतिक दलों के आकाओं नें टांगा कंधे पर ढोल ओर दी थाप

कुॅवर निर्भय सिंह।पिटोल
पिटोल।मंगलवार को पिटोल में भोंगरिये का उल्लास चरम पर था। गुजरात व म.प्र. राज्य की सीमा पर बसे पिटोल के इस मेले में दो राज्यों की संस्कृतियों का समागम होता दिखाई दिया। भोंगरिये में शामिल होने के लिये हजारों की संख्या में ग्रामीण युवक युवतियां महिला पुरुष अपनें बच्चों के साथ यहां पहुंचे। हजारों ग्रामीण जहां एक तरफ ढोल मांदल व झुले चकरी के साथ बाजार में आई विभिन्न आकर्षक वस्तुओं की खरीददारी में व्यस्त थे तो दुसरी ओर सैकडों कार्यकर्ता व ग्रामीणजन अपनी अपनी पार्टी के आकाओं के साथ उनके द्वारा बजाऐ जा रहे ढोलों की तान पर थिरक रहे थे। किसी नें थाली बजाई तो कोई कुर्राटी भरता नजर आया। भारी भीड के कारण पुलिस तनाव में नजर आई जैसे जैसे समय बीतता गया पुलिस नें राहत की सांस ली।
कांग्रेस व भाजपा नें निकाली गेर …
कांग्रेस की ओर से सांसद कांतिलाल भुरिया यहां पहुंचे जिन्होने स्थानीय होटल के सामने लगे टेंट में पहुंचकर सभी को होली की बघाई दी साफे बंधवाऐ। ग्रामीण अंचलों से आऐ ढोल व उनके साथ आऐ ग्रामीणजनों के साथ भुरिया ने पिटोल के प्रमुख मार्ग से एक गेर निकाली व सबका अभिवादन किया। मेला स्थल पहुंचनें के बाद उन्होने भी ढोल पर अपने हाथ अजमाऐ। भुरिया के साथ कांग्रेस के कई पदाधिकारी पंच सरपंच व ग्रामीणजन थे जिन्होने भगोरिये का लुत्फ लिया यहां कांग्रेस की गेर निकलने व भुरिया के थांदला रवाना होने तक जेवियर मेडा कहीं नजर नहीं आऐ जबकि यह उनका गृह क्षैत्र है।
दुसरी ओर भाजपा से क्षैत्रिय विधायक गुमानसिंग डामोर अपने कार्यकर्ताओं ओर समर्थकों के साथ यहां पहुंचे एवं उन्होने भी कांग्रेस की गेर के बाद एक प्रभावी गेर निकाली जिसमें पुर्व विधायक शांतिलाल बिलवाल कार्यकर्ता व ग्रामीणजन पारम्परिक वेषभुषा में साफा बांधकर ढोल मांदल बजाते कुर्राटी भरते चल रहे थे। गुमानसिंग मेडा अपनी लय में दिखाई दिये वे ग्रामीणों के बीच उन्मुक्तता के साथ थिरक रहे थे।
लिबास बदला किन्तु अल्हडता वही
जिले के वनवासियों की पहचान उनका अपना लिबास अब लगभग पुरी तरह बदल गया है किन्तु ढोल मांदल के बजते ही कदमों की थिरकन व अल्हडता भरी मस्ती अपनी पारम्परिक संस्कृति की याद दिलाती रही। पिटोल पहुंचने वाले सभी रास्तों पर पुलिस बल की तैनाती एवं चाक चोबंद व्यवस्था के चलते किसी प्रकार की कोई वारदात व अपराध की खबर सामनें नहीं आई।

Related Articles

error: Content is protected !!
Close