);
अलीराजपुर

जिले की जमीनी हकीकत नापने निकले कलेक्टर को ग्राम थोडसिंधी आंगनवाडी केन्द्र मे एक भी बच्चा नही पाया मिला, दूध भी केंद्र से नदारद मिला कलेक्टर ने नाराजगी व्यक्त करते हुए कारण बताओं सूचना पत्र जारी किया

रफ़ीक कुरेशी।अलीराजपुर
आदिवासी बाहुल्य जिले की जमीनी हकीकत से रूबरू होने निकले नवागत कलेक्टर शमीमउद्दीन शनिवार को सोंडवा विकासखंड के औचक निरीक्षण पर निकले। यहां उन्होंने आंगनवाडी केन्द्रों, स्कूलों, छात्रावासों, स्वास्थ्य केन्द्रों सहित अन्य शासकीय कार्यालयों की व्यवस्थाओं और स्थिति का जायजा लिया। औचक निरीक्षण के दौरान सर्वप्रथम ग्राम थोडसिंधी स्थित ओहरिया फलिया में आंगनवाडी केन्द्र क्रमांक 5 का आकस्मिक निरीक्षण किया। जिसमें पाया गया कि यहां एक भी बच्चा नहीं था। बच्चों की उपस्थित पंजी में 14 बच्चे दर्ज थे लेकिन उपस्थित एक भी बच्चा नहीं होना पाया गया। साथ ही उक्त आंगनवाडी पर बच्चों को वितरित होने वाला दूध भी उपलब्ध नहीं था। इस पर कडी नाराजगी व्यक्त करते हुए कारण बताओं सूचना पत्र जारी करने के निर्देष दिए।
यहां से नवीन प्राथमिक विद्यालय वालपुर का निरीक्षण करने पर उक्त स्कूल भवन की छत जर्जर पाए जाने पर उक्त का सुधार कार्य करने के निर्देष दिए। यहां कक्षाएं पृथक-पृथक कमरें में संचालित करने के निर्देष दिए। मध्यान्ह भोजन निर्माण कक्ष का प्रस्ताव तैयार करके प्रस्तुत करने के निर्देष दिए। कलेक्टर शमीमउद्दीन ने यहां स्कूली बच्चों को मध्यान्ह भोजन वितरण की स्थिति संतोषजनक नहीं पाए जाने तथा बच्चों को मध्यान्ह भोजन वितरण की जानकारी प्राप्त करने पर पृथक-पृथक जवाब देने पर समूह को हटाने के निर्देष दिए। यहां से बालक प्राथमिक विद्यालय वालपुर के निरीक्षण के दौरान सूर्य नमस्कार के पष्चात बच्चों के स्कूल में उपलब्ध नहीं होने पर कडी नाराजगी व्यक्त की तथा प्राथमिक एवं माध्यमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक को कारण बताओं सूचना पत्र तथा समस्त षिक्षकों का एक-एक दिवस का वेतन काटने के निर्देष दिए।
यहां निर्माणाधीन भवनों को गुणवत्तापूर्ण एवं समय सीमा में पूर्ण करने के  निर्देष दिए। उक्त स्कूल परिसर में स्थित बच्चों के हाथ धोने के स्टैंड में पानी नहीं आने तथा बच्चों के उपयोग हेतु बने शौचालयों में ताले लगे होने पर कडी नाराजगी व्यक्त करते हुए कारण बताओं सूचना पत्र जारी करने के निर्देष दिए। वालपुर में स्थित आंगनवाडी केन्द्र के निरीक्षण के दौरान बच्चों को वितरित होने वाले मध्यान्ह भोजन की स्थिति को देखा। यहां आयुष विभाग की डिस्पेन्सरी का निरीक्षण भी किया। वालपुर सरपंच से चर्चा के दौरान पंचायत द्वारा बनाए गए हाट बाजार हेतु दुकानों के निर्माण गुणवत्ता पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए हाट बाजार को व्यवस्थित संचालित करने के निर्देष दिए। माध्यमिक विद्यालय बेहडवा के निरीक्षण के दौरान स्कूल बच्चों से छात्रावास में मिलने वाले भोजन, नाश्ते, छात्रावास की व्यवस्थाओं के संबंध जानकारी प्राप्त की।
यहां छात्रावास में रहने वाले बच्चों को शाम का नाश्ता नहीं देने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए बच्चों को नियमित रूप से प्रदान करने के निर्देष दिए। यहां प्राथमिक विद्यालय के अतिथि षिक्षक को व्यस्थित ड्रेसअप में आने के निर्देष दिए। साथ ही यहां षिक्षा गुणवत्ता को लेकर विषेष प्रयास करने के निर्देष दिए। इस अवसर पर एसडीएम सोंडवा राजेष मेहता, डीपीसी विनोद कुमार कोरी, ईई आरईएस सोहनसिंह झाणिया सहित अन्य अधिकारी-कर्मचारीगण उपस्थित थे। 

Related Articles

error: Content is protected !!
Close