);
अलीराजपुर

महिला एवं बाल विकास विभाग की स्टेक होल्डर्स के लिए पेयजल जागरूकता कार्यशाला आयोजित

रफ़ीक कुरेशी।अलीराजपुर

शुक्रवार को जिला पंचायत सभाकक्ष में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन यंत्री संतोषकुमार साल्वे के निर्देशन में महिला एवं बाल विकास विभाग की स्टेक होल्डर्स हेतु राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल कार्यक्रम के तहत जिला स्तरीय कार्यशाला आयोजित की गई। इसमें जिले के आईसीडीएस के परियोजना अधिकारी एवं पर्यवक्षकगणों ने सहभागिता की। कार्यक्रम में विभाग के सहायक संचालक प्रेमलाल गोरे, मुकेश भूरिया, नितेश डामोर, जिला सलाहकार कु.भगवती खोटे सहित पर्यवेक्षक मोजुद थे। प्रशिक्षण के प्रारम्भ में रिर्सोस पर्सन सुधीर जैन ने पेयजल के महत्व को बताते हुये पेयजल प्रदुषण के विभिन्न घटकों की समझाईस देकर ग्राम स्तर पर आंगनवाडीयों मे शुद्व पेयजल के लिए प्रयासों द्वारा माहोल बनाने के लिये प्रतिभागियों से आग्रह किया। ग्रामीण विकास ट्रस्ट के प्रोजेक्ट कोर्डिनेटर विवेक प्रतापसिंह ने स्लाईड प्रोजेक्ट के जरिए प्रशिक्षण प्रदान कर दुषित पेयजल से होने वाली गंभीर बिमारीयों के बारे में बताया। विकासखण्ड समन्वयक पंकज राठोड एवं दिपमाला जमरा ने ग्रामस्तर पर फ्लोराईड टेस्ट कीट के माध्यम से केसे पेयजल में फ्लोराईड परिक्षण किया जा सकता है का कीट के माध्यम से प्रशिक्षित किया क्लोरीन एवं जीवाणु परिक्षण कीट के बारे में भी विस्तृत जानकारी प्रदान की गई। श्री गोरे ने महिला एवं बाल विकास के लक्षित समुह तक शुद्व पेयजल उपलब्ध ऐसे ग्राम स्तर पर प्रयास किए जाने की आवश्यकता बताई। कार्यक्रम को मूकेश भूरिया ने भी संबोधित किया। कार्यशाला में प्रतिभागियों ने विषय से संबधित प्रश्न किए, जिनका समाधान विशेषज्ञों द्वारा किया गया। आभार प्रोजेक्ट कोर्डिनेटर जीवीटी विक्रमसिंह ने माना।

Related Articles

error: Content is protected !!
Close