);
अलीराजपुर

जिले मे जारी है शीत लहर का कहर, बाजारों में नाममात्र की चहल-पहल

रफ़ीक़ कुरेशी।अलीराजपुर

जिले मे बीते दिनो से ठंड के मौसम मे शीत लहर का प्रकोप अचानक बढ़ गया है। कपकपाने वाली ठंड से जनजीवन पर भी अच्छा खासा असर पढ़ा है। जिले मे अधिकतम व न्युनतम पारा भी लुढक गया हैं। जिसके चलते आमजनो की दिनचर्या ही बदल गई है। मौसम विभाग के वैज्ञनिको के अनुसार आगामी दिनो तक शीत लहर का असर पुरे जिले में रहेगा।
शीत लहर के चलते बदली लोंगो की दिनचर्या
इन दिनो शीत लहर के कारण बाजारो की रोनक भी खो गई है। लोग सुबह 10 बजे से पहले बाजारो में नही आ रहे है। वही शाम होते ही नगर की सड़को पर सन्नाटा छाने लगा है ओर अपने-अपने घरों में दुबक जाते है। ठंण्ड से बचने के लिए आमजन गर्म कपड़े तथा अपने घरो व दुकानो के सामने आग को सेंकते नजर आ रहे है। सबेरे धुप तो निकलती है, लेकिन ठंडी हवा के कारण दिनभर कनकनी रहती है। पिछले दिनो में ठंड ने संपुर्ण जिले को अपने आगोश में ले लिया है, पुरा क्षेत्र ठंड व शीत लहर की चपेट में है। स्कुली छात्र भी देर सवेर अपनी-अपनी स्कुलो मे पहुंच रहे है। हालाकि जिला प्रशासन ने सुबह की स्कुलो के समय मे बदलाव कर समय परिवर्तित कर दिया है। ठंड के साथ हल्की हवाओ के कारण कनकनी का असर बढ़ गया है। ठंड का असर बसो में भी देखा जा रहा है। सुबह निकलने वाली बसो में भीड़ नही देखी जा रही है। जिले के किसानों का मानना है कि पड़ रही भारी ठंड गेंहू की फसल के लिए पुरी तरह लाभदायक है, जितनी ज्यादा ठंड पढ़ेगी फसलों को उतना ही फायदा है।
नपा परिषद ने प्रमुख स्थानो पर अलाव की व्यवस्थाएं की 
इधर नगर मे जारी शीत लहर को देखते हुवे नपा अध्यक्ष सेना महेश पटेल एवं सीएमओ श्री मिश्रा ने बताया कि शीत लहर और ठंडी के चलते नगर के प्रमुख चोराहो बस स्टैंण्ड, नीम चोक, दाहोद नाका, बहारपुरा क्षैत्र, सिनेमा चोराहा, चांदपुर नाके सहित अन्य स्थानो पर अलाव की व्यवस्थाए की गई है। नपा द्धारा इन अलावो पर जलाने के लिए नियमित लकडिया उपलब्ध कराई जा रही है। जिससे आमजनो सहित राहगिरो को इसका लाभ मिल सके। उन्होने बताया कि बस स्टैंण्ड स्थित रैन बसेरे मे भी ठहरने वाले राहगीरो को ठंड से बचने के लिए कंबल-रजाई सहित गरम उपकरण उपलब्ध कराने के प्रयास किए जा रहे है। साथ ही रैन बसेरे मे भी ठहरने वाले राहगीरो को शिघ्र ही गरम पानी के लिए गिजर की व्यवस्था नपा द्धारा उपलब्ध कराई जाएंगी। जिससे राहगीरों को ठंडे पानी से निजात मिलेगी।
बढ़ने लगीं है बिमारियां
लगातार बढ़ रही इस ठंड से अस्पतालों में भी मरिजो की संख्या बढ़ रही है। खासतौर पर बच्चे और वृद्धजनों पर इसका खासा असर पढ़ा है। उन्हें संभलकर रहने की सलाह डाक्टर द्वारा दी जा रही है। विषेेषकर सर्दी, खासी, सिरदर्द, बुखार और निमोनिया जैसी बिमारी बढ रही है। इसके बचाव करना जरूरी है। जिला चिकित्सालस के प्रभारी सिविल सर्जन एवं चिकित्सक आर. मण्डल का कहना है कि डायबिटीज के मरीजों को सर्दी के मौसम में ग्लुकोज स्तर को नियंत्रित रखना चाहिए। साथ ही अपने पैरों और आंखो पर विषेष ध्यान देना चाहिए। श्री मंडल का कहना है कि सर्दियो में  व्यायाम की कमी और मेटाबाॅलिक प्रक्रिया बदलने के कारण ग्लुकोज अनियंत्रित हो जाता है। दुसरी सबसे बड़ी दिक्कत पैरों की सूजन की भी होती है। यदि खुन में ग्लुकोज की मात्रा 250 एमपीजीडीएल से अधिक आ रही है तो पैशाब में कीटोंस की जांच कराए। हरी सब्जियो व रेशेदार फलों का सेवन करें।

Related Articles

error: Content is protected !!
Close