);
पेटलावदमालवा LIVE

कुरितियों को छोड़कर हमें एक जुट हो कर आगे बढ़ना 

तन्मय चतुर्वेदी।मालवा LIVE
पेटलावद।कुरितियों को छोड़कर हमें एक जुट हो कर आगे बढ़ना होगा. मृत्यु भोज और घुंघट प्रथा जैसी कुरीति को पीछे छोड़ कर आगे बढ़ना होगा. समाज उत्थान को महत्व देना होगा. तभी आज के युग में समाज के युवाओं और महिलाओं को प्रतिनिधित्व मिल पाएगा. हमें सर्वाधिक जोर बालिका शिक्षा पर देना होगा. हमारी आने वाली पीढ़ी पूर्ण रूप से शिक्षित हो और हर बालिका शिक्षा के अधिकार को प्राएेत करें यह हमारे समाज का ध्येय होना चाहिए. उक्त बात पाटीदार समाज की महिला विंग की प्रांतिय अध्यक्ष पुष्पा पाटीदार ने पेटलावद में आयोजीत सम्मेलन में कहीं. सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती पर कहीं.पेटलावद में पाटीदार समाज द्वारा जिला स्तरीय कार्यक्रम आयोजीत कर सरदार पटेल की 143 वीं जयंती मनाई. सर्वप्रथम अतिथियों ने सरदार पटेल और मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण किया. इसके साथ ही संगठन के पदाधिकारियों ने अतिथियों का स्वागत किया.
शोभायात्रा निकाला.
कार्यक्रम के शुरूआत में एक विशाल शोभायात्रा का आयोजन रखा गया. जो की नगर के मुख्य मार्गो से निकला. जिसमें पाटीदार समाज के हजारों महिला,पुरूष और युवाओं ने हिस्सा लिया. शोभायात्रा में सबसे आगे डीजे साउंड,घोडे और पैदल पुरूष व महिलाएं कतारबद्व चले. शोभायात्रा में सरदार पटेल की जय जयकार करते हुए पाटीदार एकता जिंदाबाद के नारे भी लगाए गए. शोभायात्रा में पुरूषों के साथ महिलाओं ने भी बड़ी संख्या में भागीदारी की.शोभायात्रा का नगर में विभिन्न स्थानों पर संगठनों के द्वारा स्वागत किया गया.
समाज को संगठीत करना है.
इस मौके पर समाज के जिलाध्यक्ष गेंदालाल पाटीदार ने कहा कि झाबुआ जिला पिछड़ा छत्र है. जहां पाटीदार समाज को कई समस्याओं से जुझना पड़ता है. समाज को एकजुट होकर पारस्परीक सहयोग की भावना रखते हुए समस्याओं का हल करना होगा.
महिला जिला अध्यक्ष सुभद्रा पाटीदार ने कहा कि महिलाएं घरों में रोजमर्रा के काम में ही व्यस्त रहती है. हमें महिलाओं को आगे लाना होगा. क्योंकि महिलाएं सशक्त हुई तो पाटीदार समाज सशक्त होगा. और समाज की तस्वीर भी बदल जाएगी. स्वागत भाषण भेरूलाल पाटीदार ने दिया और दयाराम पाटीदार द्वारा भी समाज के उत्थान के लिए किए गए प्रयासों के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई. युवा विंग के अध्यक्ष जितेंद्र पाटीदार अनंतखेड़ी और पुरूषोत्तम पाटीदार ने भी संबोधित किया.

सम्मानित किया गया.
इस मौके पर विभिन्न छत्रों में अच्छे कार्य करने वाले व्यक्तियों और समाज की प्रतिभाओं को सम्मानित किया गया. जिसमें गौ सेवा के कार्य में अग्रणी खवासा के दयाराम पाटीदार और 20 साल पहले मृत्यु भोज को बंद करने की आवाज उठाने वाले भेरूलाल पाटीदार का सम्मान किया गया. इसके साथ ही समाज की 17 प्रतिभाओं का सम्मान किया गया. जिन्होंने किसी कि छेत्र में उपलब्धी प्राएेत की है या परीक्षा में अंच्छे अंको से उत्तीर्ण हो कर समाज का नाम रोशन किया है. आयोजन को सफल बनाने में हरिओम पाटीदार और जीवन पाटीदार की सक्रिय भूमिका रही. इसके साथ आयोजन को सफल बनाने में पाटीदार समाज के सक्रिय सदस्य और युवाओं ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. आयोजन में पेटलावद ,बामनिया, रायपुरिया, जामली, सारंगी, बोलासा, झकनावदा, बरवेट, बावड़ी, करवड़ आदि स्थानों से समाजजनों ने भागीदारी ली.

Related Articles

error: Content is protected !!
Close